BK Classes - BK Raju Bhai

Raju Bhai BK Classes done during Avyakt BapDada Milan and Bhatti Programs

  • स्थिति को सेट करने की विधि - साक्षीपन व त्रिकालदर्शी स्थिति - 13/12/2018 - राजु भाई

  • रहस्यों से भरी मुरली - 29/11/2018 - राजु भाई

  • ज्वालामुखी योग द्वारा पुराने संस्कारों का संस्कार - 14/11/2018 - राजू भाई

  • यज्ञ स्नेही, सहयोगी, यज्ञ रक्षक - 27/10/2018 - राजु भाई

  • साहेब को राज़ी करने की विधि सच्ची साफ दिल 23-08-2018 ( BK Raju Bhai)

  • मरजीवा जीवन का लक्ष्य ब्राह्मण सो फरिश्ता 02-07-2018 (Raju Bhai)

  • यज्ञ रक्षक ,यज्ञस्नेही ,यज्ञ सहयोगी 25-06-2018 (Raju Bhai)

  • सदा एकरस,अचल-अडोल ,उदारमूर्त एवं उदाहरण मूर्त 24/06/2018 (Raju Bhai)

  • योग की यदार्ध विधि और सीदि 23/06/2018 (Raju Bhai)

  • घर -घर को मन्दिर बनाये 17-06-2018 (Raju Bhai)

  • स्व स्तिथि का आधार - अनुभव की अथॉरिटी 09-06-2018 (Raju Bhai)

  • सदा एकरस ,अचल -अडोल ,उदारमूर्त एवं उदाहरणमुर्त 03/06/2018 (Raju Bhai)

  • ब्राह्मणों की रिफ्रेशमेंट - 04/04/2018 (BK Raju Bhai)

  • अव्यक्त पालना एवं उसका रिटर्न - 17/01/2017

  • सबसे सहज और सरल पुरुषार्थ दुआयें देना, दुआयें लेना - 22/02/2017

  • स्व-रक्षक, यज्ञ रक्षक, मर्यादा रक्षक - 09/04/2017

  • ब्रह्माबाबा का कम्बाइंड व दाता स्वरूप 17/01/2016

  • एक से सब वरदानों की प्राप्ति - 6/2/2016

  • विपरीत परिस्थितीयों में एकरस स्थति - 11/02/2016

  • दृष्टा रूप साक्षी अवस्ता -06/03/2016

  • SpARC Meeting 12-03-16 Murli- the Source of Sustenance

  • सेफ्टी का आधार - परमात्म छत्रछाया - 30/03/2016

  • ईश्वरीय मर्यादाये एवं व्यवहार शुद्धि-01/07/2016

  • श्रीमत का महत्व - ईश्वरीय मर्यादायें 11-07-2016

  • यज्ञ स्नेही, यज्ञ सहयोगी, यज्ञ रक्षक - 04/08/2016

  • स्व-रक्षक, मर्यादा रक्षक, यज्ञ रक्षक 10-08-2016

  • अचल, अडोल, एकरस अवस्था -15/10/2016

  • निर्विघ्न स्थिति और सफलता सम्पन्न सेवा - 14/11/2016

  • यथार्थ विधि द्वारा सर्व सिद्धियों की प्राप्ति - 04/12/2016

  • संगमयुग की जीवन मुक्ति - 14/03/2015

  • सच्चे दिल पर साहेब राजी - 09/04/2015

  • Avyakt Murli Revision - 07/06/2015

  • खुश-मिजाज, खुश नुमा, खुश नसीब जीवन - 28/06/2015

  • समाधान स्वरूप बनने का साधन - साइलेंस की शक्त्ति - 06/07/2015

  • परमात्म शिक्षाओं द्वारा अलौकिक जीवन की सुरक्षा - 09/07/2015

  • समर्पित जीवन में सुक्ष्म पाप व पुण्य की गुहय गति - 17/07/2015

  • दादी जी के संस्मरण के साथ ब्राह्मण जीवन में मौज की स्थिति - 23/08/2015

  • संकल्प व समय एकानामी द्वारा मन्सा सेवा - 13/10/2015

  • उपराम और दृष्टा स्थिति 2/11/2015

  • सफलता की दो भुजायें एकता और एकाग्रता 29/11/2015

  • अव्यक्त पालना और उसका रिटर्न- 17/01/2014

  • अव्यक्त पालना और सेवाओं का अनुभव (26/01/14)

  • ब्राह्मण जीवन की सबसे बड़ी देन - दुआये (30/01/2014)

  • सेवा द्वारा दुवाये जमा (9/02/2014)

  • तीव्र पुरुषार्थ और पॉवर फुल ब्रेक (13/02/2014)

  • ब्राह्मण जीवन का फॉउण्डेशन:ईश्वरीय मर्यादाए ( 26/02/2014)

  • निष्काम वृति ,इच्छा मात्रम अविद्या स्थिति (14/03/2014)

  • पुरुषार्थ में तीव्रता (23/03/2014)

  • सफलता का आधार दिव्य बुद्धिः का वरदान (29/03/2014)

  • परमात्म शक्तियों की प्राप्ति द्वारा महान परिवर्तन (23/04/14)

  • Special Class from Raju Bhai - 30/4/2014

  • एकाग्रता की शक्ति(14-05-14)

  • Raju bahi 08/06/2014

  • अव्यक्त पालना का सबूत - सम्पूर्ण ब्रह्माचारी जीवन 14/06/2014

  • समीपता का आधार -यज्ञ स्नेही और सहयोगी(23/06/14)

  • Avyakt Murli Revision (16/2/1978)on, 29/6/2014

  • ब्रह्मा बाप समान बेफिक्र बादशाह की स्थिति - 30/07/2014

  • अरमान,फरमान,स्वमान - 31/07/2014

  • सम्पूर्ण पवित्रता (02/08/14)

  • पेपर को पास कर सन्तुष्ट रहने की चाबी - 03/08/2014

  • स्नेह और शक्ति का बैलेंस (माताओ की भट्टी) - 26/08/2014 )

  • Role of Sakar Avyakt Murli by Raju bhai English (10/10/2014)

  • संगम युग का महत्व ब्राह्मण जीवन का भाग्य (11/10/2014)

  • इष्ट देवता बनने की विधि (12/10/2014)

  • Avyakt Murli Revision 28/12/1978 - 19/10/2014

  • बापदादा के अरमान और फरमान (04/11/2014)

  • खुशनुम: जीवन का आधार - साक्षीदृष्टा स्थिति - 29/11/2014

  • प्रालबद का आधार पुरुषार्थ - B K Raju Bhai - 20/12/2014

  • तपस्या अर्थात बेहद का वैराग - 24/12/2014

  • Raju Bhai - 17/01/2013

  • समय की समीपत 1-2-13

  • ब्राहमण जीवन मे दुवाओ का महतव 8-3-13

  • निरविगन अवर-था दारा सहज योगी जीवन 21-3-2013

  • लासट सो फासट जाने का तीव्र विशेष पुरुषाथॆ 4-4-2013

  • Avyakt Murli Revision ( 23/1/1976) 21/4/2013 Part-1

  • Avyakt Murli (27/1/76) Revision - 28/4/2013 Part-1

  • Avyakt Murli Revision ( 23/1/1976) 21/4/2013 Part-2

  • Avyakt Murli (27/1/76) Revision - 28/4/2013 Part-2

  • Avyakt Murli (2/2/1976) Revision - 12/5/2013 Part-1

  • Avyakt Murli (2/2/1976) Revision - 12/5/2013 Part-2

  • Avyakt Murli (6/2/1976) Revision - 19/5/2013

  • Avyakt Murli Revision (7/2/1976) - 26/5/2013

  • Revision of Avyakt Murli (10/1/1977) - 9/6/2013

  • साधन और साधना का बैलेन्स 12-6-2013

  • मरजीवा जीवन में सपूत बन सबूत दें 21/6/2013

  • स्व-पऱिवर्तन से विश्व परिवर्तन - मौन तपस्या भट्टी 8-8-2013

  • ब्रह्मा बाप सामान जीवन मुक्त स्थिती 24-08-2013

  • परिवर्तन का आधार - बेहद का वैराग्य (14 /11 /2013 )

  • विपरीत परिस्थिति में अचल अडोल स्थिति मधुबन 29/11/13

  • मनोबल - मन्सा सेवा (30/12/2013)

  • Brahma Bap Ke 10 Kadam Wa Dinacharya - 27/4/2012

  • Special Class (Shantivan) - (06/06/2012)

  • Special Class - (13/06/12)

  • Special Class - (23/06/2012)

  • Teevra Purusharth - Part 1 (12/8/2012)

  • Teevra Purusharth - Part 2 (12/8/2012)

  • Seva may atmik sthiti anubav karneki vidhi - 08/10/2012 - part 1

  • Seva may atmik sthiti anubav karneki vidhi - 08/10/2012 - part 2

  • Raju Bhai 01/11/2012

  • बेपरवाह बादशाह की स्थिति - 29/11/2012

  • अव्यक्त पालऩा व उसका रिर्टऩ 30/12/2012

  • ब्रह्मा बाप समान सिद्धि स्वरूप बनने की विधी 17/01/2011

  • लास्ट सो फास्ट, फास्ट सो फस्ट 01/02/2011

  • बाप की चाहना और हमारे कर्म 16/02/2011

  • मनजीत-जगतजीत 01/03/2011

  • निर्णय शक्ती द्वारा निश्चिन्त स्थिती 15/03/2011

  • हमारी जिम्मेवारी 30/03/2011

  • Volcanic Yoga - (14/10/2011)

  • Tivra Purushart class - 30/10/2011(Part 1)

  • Tivra Purushart class - 30/10/2011(Part 2)

  • Sanskar Milan Ki Raas - (14/11/2011)

  • Drudta Safhalta ki Chaabii - (14/12/2011)

  • Teevra Purusharth class - (4/12/2011)

  • Sakshi Drista Sthiti Aur Kushnumha Jeevan - 30/12/2011

  • चारों सब्जेक्ट में स्वमान स्वरूप कैसे बने ? 10/2/2010

  • ब्राह्मण जीवन का श्वास- सेवा की जिम्मेवारी, शौक, उमंग-उत्साह 27/02/2010

  • ब्राम्हण जीवन जीने की सत्य राह 29/1/2010

  • अचानक, एवररेडी, बहुत काल का अभ्यास 14/03/2010

  • सर्वस्व त्यागी जीवन -जादू का दर्पण 30/03/2010

  • स्वयं को चेक करो और चेंज करो 14/11/2010

  • स्वर्णिम युग के लिए ईश्वरीय योजना 29/11/2010

  • फरमान, अरमान और स्वमान 14/12/2010

  • चलन और चेहरे द्वारा बापदादा की प्रत्यक्षता 30/12/2010

  • अव्यक्त मास के लिए विशेष होमवर्क 3/1/2009

  • अव्यक्त पालना और उसका रिटर्न - 17/01/2009

  • समय की पुकार - सफल करो, सफलता पाओं - 24/02/2009

  • संतुष्टमणि और सर्वश्रेष्ठ समाज - 08/03/2009

  • फ़रिश्तेपन की मंजिल पर पहुँचने का साधन - 23/03/2009

  • रियल को रियलाइज करना 6/4/2009

  • स्वस्थिती द्वारा परिस्थितियों पर विजय 14/11/2009

  • तीव्र पुरुषार्थ-प्रॅक्टिकल जीवन के दर्पण में 29/11/2009

  • ब्राह्मण जीवन का मैडल-श्रेष्ठ स्थिती 14/12/2009

  • योगी जीवन का फाउंडेशन सम्पूर्ण पवित्रता (कुमारों के लिए) 29/12/2009

  • आत्म निरीक्षण (प्रश्नोत्तर ) 29/12/2009

  • रिटर्न देकर रिटर्न जर्नी की तैयारी 30/12/2009

  • शांति की शक्ती और उसका प्रयोग - 16/02/2008

  • मरजीवा जन्म का महत्त्व - 29/12/2008

  • स्वस्थिति से परिस्थिति पर विजय - 13/12/2008

  • बाबा की दो विशेषतायें एकरस और अथक - 17/01/2007

  • वायदा - कायदा - फायदा - 14/02/2007

  • सर्व खजानों को सफल करने की विधि - 02/03/2007

  • स्वमान में टिकने की विधि - 16/03/2007

  • जमा का खाता सम्भालने और बढ़ाने की विधि - 30/03/2007

  • अनासक्त योगी जीवन - 01/11/2007

  • एकता और एकनामि - 02/12/2007

  • दुवाओं का खाता -17/01/2006

  • वरदानों को जीवन में प्रयोग करने की विधि - 02/02/2006

  • सच्चे साहब को राजी करने की युक्तियाँ - 24/02/2006

  • स्वराज्य स्थिति का चार्ट - चेकिंग - 27/03/2006

  • अखंड महादानी - 15/11/2006

  • योग में नींद आने के कारण तथा निवारण - 29/11/2006

  • तपस्या एक समारोह - 30/12/2006

  • बाबा की निमित्त, निर्मान, निर्माण स्थिति -16-01-2005

  • दुवाओं का खाता जमा कैसे करें -02-02-2005

  • स्व-स्थिति से पर-स्थिति पर विजय(06/03/2005)

  • सिद्धि स्वरुप बनने की विधि(24/03/2005)

  • अलौकिक पालना और उसका रिटर्न 13-11-05

  • रॉयल इच्छाये और उनसे मुक्ति -28-11-05

  • रियलिटी, रॉयल्टी और रूहानी पर्सनैलिटी -14-12-2005

  • स्नेह और सहयोग की शक्ती -30-12-2005

  • अव्यक्त पालना तथा उसका रिटर्न - 20/01/2004

  • ब्राह्मणो के अलंकार -31-01-2004

  • रूहानी मस्ती द्वारा एकता एकाग्रता 21/03/04

  • निश्चय में ही विजय -31-10-2004

  • प्रभु प्रीत की निशानिया -01-12-04

  • श्रेष्ठ खजाना - ख़ुशी - 29/11/2003

  • त्याग, तपस्या, सेवा की गहराई- 13-12-2004

  • तुरंत दान महापुण्य -29-12-2004

  • निर्विघ्न एवं एकरस स्थिति - 13/12/2003

  • समय का इशारा - 28/12/2003

  • बाबा की दो विशेषताए एकरस और अथक - Raju Bhai )