BK Classes - BK Usha Ben

Usha Ben BK Classes done during Avyakt BapDada Milan

  • निमित्त, निर्माण एवं निर्मल वाणी - 02/07/2017

  • ब्राह्मण जीवन में आवश्यक बल - 30/06/2017

  • तपस्या योग - 09/04/2017

  • समय की समीपता प्रमाण स्वयं का श्रेष्ठ पुरुषार्थ - 19/03/2017

  • तपस्या - 22/02/2017

  • तपस्या स्वरुप - 17/01/2017

  • ओम शान्ति स्वरुप कैसे बने ? - 30/12/2016

  • हलचल में अचल स्थिति - 04/12/2016

  • हलचल में अचल - 14/11/2016

  • कर्मयोग से कर्मातीत - 15/10/2016

  • कर्मयोग से कर्मातीत स्थिति - 23/08/2016

  • तपस्या और एकाग्रता - 11/08/2016

  • कुमारी जीवन के लिए मुरली संजीवनी बुटी - 09/07/2016

  • ब्राह्मण जीवन में दुवाओं का मह्त्व - 04/07/2016

  • एकाग्रता के द्वारा तपस्या - 25/06/2016

  • तपस्या - निरंतर और एकगरतपूर्ण - 15/6/2016

  • वर्तमान समय में गीता ज्ञान का व्यवहारिक प्रयोग - 30/03/2016

  • स्व परिवर्तन से संस्कार परिवर्तन - 06/03/2016

  • कर्मयोग से कर्मातीत - 11/2/2016

  • कर्मयोग से कर्मातीत की ओर - 17/01/2016

  • ब्राह्मण जीवन और कर्मयोग - 30/12/2015

  • हमारा युग आ गया - 29/11/2015

  • हमारा युग आ गया - 05/11/2015

  • बेगंमपुर के बेफिकर बादशाह - 13/10/2015

  • आत्म-अभिमानी, अव्यक्त फरिश्ता एवं निराकारी स्थिति - तीनों में अन्तर - 23/08/2015

  • अलौकिक जीवन का श्वास - हिम्मत, उमंग, उत्साह - 16/07/2015

  • चलन और चेहरे में एक रूपता - 30/06/2015

  • ज्वाला स्वरुप योग - 09/04/2015

  • खुशनुमा जीवन के लिए आंतरिक स्थिरता - 14/03/2015

  • सुख को एक अवसर दो जीवन में आने का - 15/02/2015

  • To Elevate Ourselves Towards Highest Stage - 02/02/2015

  • साथी, सारथी, व साक्षी - 24/12/2014

  • निर्विघ्न स्थिति - 29/11/2014

  • ज्वाला मुखी योग की स्थिति - 04/11/2014

  • निर्विघ्न स्थिति कैसे बने ? - 11/10/2014

  • नष्टोमोहा स्मृतिलब्धा स्थिति - 26/08/2014

  • निर्विघ्न एवं निर्विकल्प स्तिथि - 12/06/2014

  • श्रीमत और ब्राह्मण जीवन की विशेषताएं - 14/03/2014

  • ब्राह्मण जीवन की विशेषताये - 26/02/2014

  • ब्राह्मण जीवन में व्यर्थ से मुक्त - बेफिक्र बाद्शाह - 13/02/2014

  • ज्ञान की धारणा द्वारा सेवा - 30/01/2014

  • ज्ञान को जीवन में धारणा करने की विधि - 17/01/2014

  • स्व और सर्व के प्रती शुभभावना - 30/12/2013

  • परिवर्तन का आधार, बेहद की वैराग वृति - 14/12/2013

  • चहेरे और चलन से बाप की सेवा - 29/11/2013

  • अन्तिम स्टेज - कर्मातीत अवस्था - 14 /11 /2013

  • अव्यकत फरिश्ता स्थिति - 27-08-2013

  • स्व-पऱिवर्तन से विश्व परिवर्तन - 10-8-2013

  • चहरे और चलन से ब्रह्मा बाप की प्रत्यक्षता - 2/7/2013

  • दृढता व्दारा स्व परिवर्तन - 22/6/2013

  • दृढता व्दारा संस्कार परिवर्तन - 13/06/2013

  • ब्राहण जीवन का महतव - 6/4/2013

  • ब्राहमण जीवन का महतव - 21/3/2013

  • ब्राहमण जीवन का महतव - 10/03/2013

  • संगमयुगी ब्राहमण जीवन - 19-2-2013

  • B K Usha Behn - 17/01/2013

  • निश्चय के आधार पर निश्चिन्त जीवन - 01/01/2013

  • आपदाओं को मनोरंजन में परिवर्तन - 29/11/2012

  • B K Usha Behn - 21/06/2012

  • ब्रह्मा बाप के 8 कदम - 28/5/2012

  • ब्रह्मा बाप के 8 कदम - 19/5/2012

  • सम्पन्नता का आधार समीपता - 5/5/2012

  • आत्मा अभिमानी स्थिति का स्पस्टीकरण - 25/4/2012

  • तीव्र पुरुषार्थ और एवररेडी रहने की विधि - 14/12/2011

  • एवररेडी कैसे बने ? - 29/11/2011

  • टेन्शन फ्री कैसे रहे ? - 01/04/2011

  • अचानक और एवररेडी - 15/03/2011

  • अचानक और एवररेडी - 28/02/2011

  • एवररेडी स्थिती से साक्षात्कार - 15/02/2011

  • सेकण्ड में फुलस्टॉप लगाने की विधी - 03/02/2011

  • याद की सहज विधी - 16/01/2011

  • सेकण्ड में फुलस्टॉप कैसे लगाये ? - 30/12/2010

  • ईश्वरीय ज्ञान से समस्याओंका हल - 28/11/2010

  • हलचल के बीच अचल, निर्भय, नीरव्यर्थ स्थिती - 16/11/2010

  • अचानक, एवररेडी, बहुत काल का अभ्यास - 29/03/2010

  • निश्चय ही निश्चिंत स्थिति का आधार - 25/02/2010

  • सफलता का आधार निश्चय बुद्धी - 10/2/2010

  • अवस्था को अचल बनाने की विधी - 14/12/2009

  • अचल एवं स्थिर अवस्था के लिए -ड्रामा - 28/11/2009

  • एकरस स्थिर रहने का साधन -ड्रामा - 13/11/2009

  • समय की रफ़्तार और पुरुषार्थ में तीव्रता - 5/4/2009

  • समय की तीव्रता और पुरूषार्थ की रफ़्तार - 23/03/2009

  • समय की रफ़्तार अनुसार पुरूषार्थ में तिव्रता - 08/03/2009

  • समय के रफ़्तार अनुसार पुरूषार्थ में तिव्रत्ता - 21/02/2009

  • योग कॉमेंट्री - 04/02/2009

  • समय की रफ़्तार और पुरूषार्थ की तिव्रता - 17/01/2009

  • दृढता के आधार पर सफलता - 14/12/2008

  • दृढ़ संकल्प धारी कैसे बने - 29/11/2008

  • समय की तिव्रता और पुरूषार्थ की रफ़्तार - 14/11/2008

  • समय के अनुसार पुरूषार्थ में तिव्रत्ता - 17/02/2008

  • पुरूषार्थ - पुण्य और दुआयें - 29/12/2007

  • दृढ़ता का आधार - 14/12/2007

  • स्वमान और सम्मान - 29/11/2007

  • संकल्पो में दृढ़ता लाने की विधि - 29/10/2007

  • दुआयें देना - दुआयें लेना - 01/04/2007

  • दुआयें दो - दुआयें लो (दुआओं का महत्त्व ) - 19/03/2007

  • कॉमेंट्री: परमात्म अनुभूति - 02/03/2007

  • विचार सागर मंथन द्वारा विघ्न विनाशक स्थिति - 14/02/2007

  • समश्याओं से मुक्त निवारण स्वरूप - 19/01/2007

  • ड्रामा को प्रेक्टिकल कैसे धारण करे - 29/12/2006

  • विचार सागर मंथन करने की विधि - 01/12/2006

  • विचार सागर मंथन - 14/11/2006

  • दुआओं का खता जमा कैसे करें - 16-11-05

  • ब्राह्मण जीवन में रामायण का व्यवहारिक स्वरूप - 21-02-2005

  • रामायण का व्यावहारिक स्वरुप-19-01-2005 Part-I

  • सरामायण का व्यवहारिक स्वरुप -19-01-2005 Part-II

  • रामायण का व्यवहारिक स्वरुप - 01-12-04

  • व्यर्थ को सेकंड में बिंदी - 31-10-2004

  • Importance and Speciality of Brahmin Life - 26-02-2004

  • लगाव, तनाव, कमजोर स्वभाव से मुक्त -18-03-2004

  • संतुष्टता का सर्टिफिकेट लेने का आधार - 16/01/2004

  • पुरुषार्थ की सम्पन्नता सन्तुष्टता - 29/12/2003

  • विशेषताओं का महत्त्व - 13/12/2003

  • आत्मा के मूल गुणों की अनुभूति - 28/11/2003

  • ब्राह्मण जीवन में विशेषताओं का महत्व - 13/11/2003